Welcome Speech in Hindi

Welcome Speech in Hindi:

Introduction:

भावी मन संचालकों को वक्ताओं को मेरा हार्दिक प्रणाम!

मंच संचालन की महत्वपूर्ण कड़ी होती है। अतिथियों के सम्मान में आपके शब्द, शायरी। Chief Guest के आगमन पर आप की जोश और आत्मीयता भरी आवाज़।

आशा है आप नीचे दी गई स्क्रिप्ट से अतिथि आगमन, दीप प्रज्वलन, स्वागत गीत, स्वागत संबोधन तब अच्छा मंच संचालन कर पाएंगे।

अतिथि आगमन

हमारे मुख्य अतिथि आ चुके हैं उनके आने पर मैं हार्दिक स्वागत करता हूं|

हमारे इस परिवार की ओर से विद्यालय की ओर से जैसा भी आप का कार्यक्रम हो उसकी ओर से, आप कर सकते हैं और शायरी बोल सकते हैं

अतिथि शायरी

आशाहीन हृदय में तरंग भर देती है
छोटी सी उम्मीद निराशा को भंग कर देती है
मुद्दत से आते हैं अतिथि भगवान बनकर
अतिथियों के आने से मन में उमंग भर देती है

माँ सरस्वती दीप प्रज्वलन

इसी बीच में चाहूंगा कि हमारे बीच में आए हुए मुख्य अतिथि मंच पर आएं और विद्या की देवी मां शारदा के आगे दीप प्रज्वलित के आज के इस कार्यक्रम का शुभारंभ करें।

शायरी

जैसे रोशनी होती है दीपक से
वैसा सब में आप जोश भर दो
पावन किया दरबार को आपने
दीप जलाकर आगाज़ कर दो

खुदावंद तेरे नाम से आगाज करता हूँ
तेरा बंदा हूँ तेरी रहमतों पे नाज करता हूँ।
फ़कत तेरी मदद और ताक़त के भरोसे पर
मुझे उड़ना नहीं आता मगर परवाज करता हूँ।

हम सभी उस अलौकिक शक्ति, अदृश्य शक्ति को याद करें और धन्यवाद करें कि हमें यह सुंदर जीवन मिला है

जब तक दीप प्रज्वलन का कार्य हो आप कुछ ना कुछ बोलते रहिए या हल्के हल्के आवाज में कार्यक्रम के विषय के अनुसार गीत लगा दीजिए
हम धन्यवाद करें परमपिता परमात्मा का, सृष्टि का,

आसमान की ऊंचाइयों पर हम परवाज़ करते हैं
हमारे मेहमानों के सर सम्मान का ताज धरते हैं
विद्या की देवी माँ शारदा को करके सज़दा
खुशियों से भरी महफ़िल का आगाज़ करते हैं

अतिथि सत्कार & स्वागत गीत

हमारे बीच में आए हुए हमारे मुख्य अतिथि उनका एक बार फिर से हार्दिक अभिनंदन।

हमारी परंपरा रही है अतिथि सत्कार।

एक दूसरे का आदर सम्मान करना करना यह एक मानवीय मूल्य है जो हम लोग निभाते रहें। हमारी इस मंच का आगाज हुआ। यह दिन सभी को एक बार फिर से मुबारक हो । हमारे बीच में आए हुए हमारे मुख्य अतिथि उनका एक बार फिर से हार्दिक अभिनंदन।

हमारी परंपरा रही है अतिथि सत्कार। एक दूसरे का सम्मान करना कदर करना यह एक मानवीय मूल्य है जो हम लोग निभाते रहें।

भारत की परंपरा है अतिथि सत्कार
गृहस्थ जीवन में पुण्य है अतिथि सत्कार
अतिथि सत्कार ही होती है राज घरानों की आन
पवित्र भावों की प्रबलता है अतिथि सत्कार

हमारे आए हुए मुख्य अतिथि, सभी मेहमानों, और दर्शकों के स्वागत के लिए एक तरन्नुम, भरा स्वागत गीत आपके सामने लेकर आ रहे हैं स्कूल के छात्र या छात्राएं

स्वागत गीत के बाद शायरी

अतिथि देवो भवः
कहती ये भारत की धरा
स्वागत करके आपका
निभा रहे हैं परम्परा

हम चाहते हैं किसी तरह से हमारे बीच में ही मेहमान आते रहे। एक दूसरे की खुशियों में जब हम शरीफ होते हैं तो हमारी खुशियां बढ़ जाती हैं । इसी प्रेरणा के साथ हम आपस में एक दूसरे के साथ अच्छे ताल्लुक बनाए और संसार में सद्भावना और आपसी भाईचारा कायम करे

अतिथियों के स्वागत के बाद कुछ कार्यक्रमों में संस्था,स्कूल मैनेजमेंट की ओर से स्वागत संबोधन होता है, तो ऐसे कर सकते हैं।

स्वागत सम्बोधन

आए हुए मुख्य अतिथियों का स्वागत संबोधन करने के लिए मैं आमंत्रित कर रहा हूं इस मंच पर हमारे विद्यालय, संस्था,परिवार,
कॉलेज, फाउंडेशन के मुखिया को डायरेक्टर को या प्राचार्य को जो आए और आए हुए मेहमानों के स्वागत में दो शब्द कहें

Video

यह भी पढ़ें

  1. Heartbreaking Shayari | दिल को छेड़ दे ऐसी शायरी
  2. Clap Shayari | महफ़िल में रंग भर देगी ये ताली शायरी
  3. Children Shayari | बच्चों पर शायरी
  4. गर्भसंस्कार से आने वाली सन्तान को महान बनाएं
  5. Painful Shayari in Hindi | दर्द भरी शायरी

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.