Retirement Speech . Farewell Speech For Retirement Function.
Retirement Shayari.
Public speaking Tips For Retirement.सेवानिवृति भाषण

सबसे पहले सभी पाठकों दिल से आभार जो आप healerbaba वेबसाइट से भरपूर लाभ उठा रहे हैं।

Retirement farewell speech सेवानिवृत्ति विदाई भाषण लिखने से पहले कृपया आप इन बातों पर भी ध्यान दें

जो speech shayari वेबसाइट पर दी गई है ।उसे पढ़ने के साथ-साथ आप बोलने का तरीका और public speaking tips सीखने के लिए यूट्यूब चैनल swami ji भी देखते रहिए।

लगभग 400 वीडियो चैनल पर डाली गई है ।
अनेक विषयों speech और shayari चैनल पर दी गई है ।

इसके साथ साथ मंच संचालन करने का तरीका। बेहतर वक्ता बनने के टिप्स , public speaking tips Hindi speech ,public speaking course in Hindi ,swami ji यूट्यूब channel पर बताए गए हैं ।

किसी की retirement पर speech देने से पहले कुछ बातों पर गौर कर ले तो आपका वक्तव्य बहुत ही खूबसूरत होगा।

Retirement होने वाले कर्मचारी अधिकारी की 1,2 खास बातें विशेषताएं जरूर बोलें।

उनका सभी के साथ है स्नेह सद्भाव से रहना,समूह में भोजन करना,अपना सेवा कार्य कर्मठता से करना।

विदा होकर जाने वाले कर्मचारी की इस तरह की कोई प्रबल विशेषता अपने speech में जरूर बताएं।

उनके परिवार के लिए भी दुआओं भरी कोई शायरी, दो बातें आपके भाषण में होनी चाहिए ।

उत्तम होगा अगर ये speech आप अपनी भावनाओं से लिखने का प्रयास करें ।

अगर उचित लगे तो इस लिखे हुए भाषण को भी बोल सकते हैं।

भाषण शायरी से शुरू होगा

कुछ रिश्ते अनजाने में बन जाते हैं
पहले दिल में फिर जिंदगी से जुड़ जाते हैं
कहते हैं उस दौर को दोस्ती जिसमें
अनजाने ना जाने कब अपने बन जाते हैं

आज के इस सेवानिवृति विदाई समारोह की आप सभी को मेरी ओर से हार्दिक शुभकामनाएं

आज के हमारे खास अतिथि और हर दिल अजीज जिनकी सेवानिवृत्ति पर आज ये कार्यक्रम रहा है,उनको हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं

परिवार से उनकी धर्मपत्नी व अन्य सदस्यों का यहाँ पहुंचने पर आभार प्रकट करता हूँ।

यही दुआ करते हैं कि इस शुभ दिन पर उन पर हजारों खुशियां बरसे और उनकी लंबी उम्र हो।

आज के इस कार्यक्रम में मौजूद हमारे साथी कर्मचारी और हमारे चेयर पर्सन सभी का हार्दिक स्वागत करता हूं ।

देखिए विदाई के साथ जुदा होना जुड़ा है,बिछुड़ना जुड़ा हुआ है।

शुरुआत की पंक्तियों मैंने कहा कि अनजाने ना जाने कब अपने बन जाते हैं।यह बात सच है।

जब हम प्रशासनिक सेवाएं देते हैं। कोई सरकारी नौकरी करते हैं।
तो वहां आपसी सद्भाव से एक परिवार के रूप में रहने लगते हैं।एक दूसरे की सहायता और सुख दुःख में शामिल होते हैं।

एक परिवार की तरह व्यवहार करते हैं और हमारे मजबूत संबंध बन जाते हैं ।

ऐसे रिश्ते हमारे जीवन का लक्ष्य बन जाते हैं।

आज हमारे सर हमसे विदा हो रहे हैं। जिन्होंने हम सभी के साथ ऐसा ही रिश्ता कायम किया है।

हर इंसान का यही एक सपना होता है की वह जहां भी कार्य करे।वहाँ से रुखसत होने के बाद उसे याद किया जाए।

कम से कम इतनी सोच जरूर होती है कि उसकी वजह से कभी किसी का दिल ना दुखा हो।

जहाँ भी हम एक समूह में कार्य करते हैं, छोटी छोटी दिक्कतें तो आ जाती है ।

आज आप हमसे विदा होकर जा रहे हैं ।पूर्ण सहयोग,सहमति और के सद्भावना भरा आपका आचरण रहा है।

सर की सेवानिवृत्ति पर यहां पधारे इनके परिवार को भी हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं।

कामना करते हैं कि आपका आने वाला भविष्य बहुत ही सुनहरा हो चमकदार हो और परमात्मा आपकी जोड़ी बनाकर रखे।

यही दुआ करते हैं की आपका जीवन अपने बच्चों,पोते पोतियो के हंसते खेलते बीते।

अंत में अपने साथी कर्मचारियों से आग्रह करता हूँ कि हम लोग भी हम लोग आज के दिन से प्रेरणा ले।

परस्पर मिलजुल कर अपनी बेहतर सेवाएं देते रहे ।

हर फूल बाग में लगाए नहीं जाते
हम लोग महफिल में बुलाए नहीं जाते
कोई तो पास होकर भी याद नहीं आता
कुछ दूर होकर भी भुलाए नहीं जाते

हम जहां भी रहें कभी ना भूलने वाला ऐसा रिश्ता कायम करके जाएं।

जिस रिश्ते में सद्भावना और प्यार की मिठास रहे।

इन्हीं शब्दों के साथ एक बार फिर से हमारे माननीय मित्र और उनके परिवार को आज के सेवानिवृति विदाई समारोह की आकाश भर शुभकामनाएं

धन्यवाद

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.