अपने आप को देखे आप कैसे वक्ता है

अपने आप को देखे आप कैसे वक्ता है:

देखिये दोस्तो वक्ता होना एक अलग बात है। और एक अच्छा वक्ता होना अलग बात है। एक साधारण बोलने वाले या मंच संचालक को हो सकता है श्रोता मुफ़्त में सुनना भी पसन्द न करें। और एक अच्छे वक्ता या प्रेरक को लोग हजारों रुपये देकर सुनते हैं।

सबसे पहले तो हम अपने आपको देखें की में कौन सी श्रेणी में आता हूँ। हो सकता है कुछ लोग ख़ुद को ना तो अच्छा कहेंगे ना साधारण और मध्यम दर्जे का वक्ता कहेंगे। ये बात ठीक है लेकिन हर वक्ता अच्छा बनना चाहता है।

इसके लिये आवश्यक है कि सबसे पहले हम ये देखें कि हमारी प्रस्तुति में, वाक शैली में और क्या सुधार हो सकता है और सुधार करना शुरू करें। हाँ एक बात ये भी जान लें कि मात्र मंच पर बोलने से सुधार नहीं होगा। मंच पर बोलते रहने से आपका आत्मविश्वास, शरीरिक हावभाव सुधर सकते हैं। शब्दों का उच्चारण, डॉयलॉग, मस्ती भरा स्टाइल के लिए आपको ख़ुद के साथ घर अपने कमरे में तैयारी करनी होगी।

मैंने देखा है कि जो लोग व्यक्तिगत रूप से अकेले में ख़ुद के साथ तैयारी नहीं करते वो एक ही लक़ीर के फ़क़ीर बने रहतें है और एक सीमित क्षेत्र में पब्लिक की खाली शाबाशी और तालियों से ख़ुद को अच्छा मंच संचालक या वक्ता समझ लेते हैं और इसी भ्रम में धीरे धीरे उनका प्रभाव ख़त्म हो जाता है।

ये जो मैंने कहा है मेरे साथ भी हुआ है। लेकिन मैंने सीमित रहना मंजूर ना करके ख़ुद में बहुत ज्यादा सुधार किया। एक एक शब्द का उच्चारण ठीक किया। आईने के हर रोज 40 ,50  मिनट अभ्यास करता हुँ जिससे आज मेरी वाक कला कुछ ठीक हुई है।

भावी वक्ताओ, प्रेरको  इन बातों से आप अपने आपको देखें और सोचें कि क्या आप एक अच्छे वक्ता हैं। अगर अच्छे हैं तो और ज्यादा सीखें। अगर वक्तव्य में खामियां हैं तो आज ही से एक एक कमी को सुधारिये और अपनी अंतः प्रेरणा से संसार में समृद्धि और अमन लेकर आइये।

जय हो आप सभी की

यह भी पढ़ें

  1. 20+ Welcome Shayari in Hindi for Anchoring | अतिथिस्वागत शायरी | मेहमान स्वागत शायरी
  2. Children Day Speech in Hindi for Students | बाल दिवस(14 Nov) प्रोग्राम के लिए स्पीच और शायरी स्क्रिप्ट
  3. Amazing Speech for School Morning Assembly in Hindi | स्कूल, कॉलेज के लिए स्पीच स्क्रिप्ट
  4. Anchoring Script and Shayari for Freshers Party for College Events in Hindi with PDF
  5. हिन्दी दिवस भाषण, शायरी

2 thoughts on “अपने आप को देखे आप कैसे वक्ता है”

  1. भाई साहब जी मुझे आपकी शायरी से प्रसन्न होगया हूँI अब युवाओं पर भी कुछ शायरी तैयार करदो I
    धन्यवाद

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.